मुझे आशा ही नहीं यकीन है की लद्दाख का नाम सुनते ही आपके मन में भी हिमालया बुलेट बाइक वाली रोड ट्रिप या फिर कभी न पूरी होने वाली दोस्तों के साथ वाली ट्रिप का ख्याल जरूर आता होगा, इस बात में कोई दो राय नहीं है की भारत में ऐसी कई जगह है जो चमत्कार और आश्चर्यों से भरी हुई है।

जम्मू – कश्मीर की लेह सीमा में स्थित ( जो अब लदाख का हिस्सा है जैसा की अब लद्दाख जम्मू – कश्मीर से अलग होकर एक केंद्र शाषित प्रदेश बन चुका है ) ऐसी ही एक जगह का जिक्र इस आर्टिकल में हम करेंगे जिसके बारे में पढ़ कर आप भी आश्चर्य चकित हो जाएंगे।

लद्दाख के कई आकर्षक स्थानों में से, लद्दाख के पसंदीदा और रहस्य्मय चुंबकीय पर्वत को Magnetic Hill कहा जाता है, जहाँ वाहन गुरुत्वाकर्षण बल के नियंत्रण में नहीं होते और अगर वाहन को न्यूट्रल गियर पर खड़ा कर दिया जाये तो वह नीचे की तरफ आने की बजाये इस पर्वत की तरफ अपने आप खींचे चले जाते है।

Magnetic Hill

श्रीनगर से लेह की तरफ आ रहे नेशनल हाईवे पर आप स्पष्ट रूप से देख सकते है की, जो रास्ता जा रहा है वो पहाड़ी की तरफ ऊंचाई पर जा रहा है, फिर भी जब आप गाड़ी का इंजन बंद करके गाड़ी न्यूट्रल पर कर देते है तो आपकी गाड़ी धीरे- धीरे पहाड़ी की तरफ खिसकने लगेगी, और खिसकते खिसकते आपकी गाड़ी 20 KM /Hour की रफ़्तार से पहाड़ी की ओर जाने लगेगी। है न आश्चर्य कर देने वाली बात?

Magnetic Hill

बहुत सी परिकल्पनाएं और कहानियों के अनुसार ये एक भ्रम हो सकता है, या झूठी कहानी भी हो सकती है, या फिर इसे पृथ्वी का कोई भूवैज्ञानिक चमत्कार भी कहा जा सकता है।

लेकिन सच्चाई ये है की लद्दाख के इस पहाड़ी इलाके में जमीन के ऊँचा नीचे होने की वजह से क्षैतिज ठीक से नजर नहीं आता, जिसकी वजह से हमें illusion होने लगता है, और नीचे की ओर जा रहा रास्ता हमे ऐसा लगता है जैसे वो ऊपर की तरफ जा रहा हो, और नीचे जाते हुए इस रस्ते की वजह से गाड़िया अपने आप खिसकने लगती है।

हालाँकि किसी तरह की अनहोनी से बचने के लिए इस क्षेत्र से उड़ान भरने वाले विमान गुरुत्वीय तनाव से बचने के लिए अपनी ऊंचाई सामान्य से अधिक रखते है।

 

इस घटना के बारे में जब आप वहां के स्थानीय लोगों से बात करेंगे तो आपको कई तरह की कहानियां सुनने को मिल सकती है, उनके लिए तो मैग्नेटिक हिल और उसके आस पास की पूरी जगह एक चमत्कार है।

कुछ रिसर्च और रिजल्ट के बाद ये सामने आया की ये एक तरह का साइकोलॉजिकल इलुशन है, जिससे केवल लोगों की नजरों को धोखा होता है की गाड़ी ऊपर की ओर जा रही है जबकि असलियत में गाड़ी नीचे की ओर जा रही होती है, खैर इलूशन हो या जो भी हो, लद्दाख में अगर आप है तो ये मैग्नेटिक हिल आपकी ट्रिप को एक Memorable Moment जरूर बना सकता है।

मैग्नेटिक हिल घूमने का सबसे अच्छा समय

लेह में अधिकतर जगह घूमने के लिए जुलाई से सितम्बर महीने तक का समय अच्छा है।

कैसे पहुंचें मैग्नेटिक हिल

  • Air: निकटतम एयरबेस लेह हवाई अड्डा है।

  • Road: लेह से मैग्नेटिक हिल 30 किमी दूर है, वहाँ पहुँचने के लिए लेह-कारगिल-बाल्टिक राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाना होगा।

क्या आप मैग्नेटिक हिल गए हैं?

यदि हाँ? हम आपके अनुभव के बारे में जानना चाहेंगे। कृपया इसे हमसे शेयर करें।
और अगर नहीं? तो आप इसके बारे में क्या सोचते हैं?

LEAVE A REPLY